IIT बॉम्बे छोड़ने वाले मुकेश अंबानी के वो किस्से, जो कम लोगों को पता हैं

मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति कहे जाते हैं. उनके बारे में बहुत सारी बातें चलती हैं. पर उनके ऐसे कई किस्से हैं जिनसे आज भी लोग अनजान हैं. आज उनका जन्मदिन है. वो 60 साल के हो गए.

आज याद करेंगे उनकी जिंदगी के कुछ किस्से:

1. धीरूभाई अंबानी के बेटे मुकेश अंबानी अपने भाई-बहनों में सबसे बड़े थे. वो खुद कहते हैं कि वे ऐसे समय में पैदा हुए थे जब लोगों को घर में सबसे बड़े होने का अलग फायदा मिला करता था. उनके मुताबिक 1960 के दशक में मुकेश और उनके भाई-बहन दीप्ति, नीना और अनिल पर उनके पिता को इतनी पाबंदी लगाने की जरूरत नहीं पड़ती थी. पर कहते हैं कि अब माहौल बदल गया है.

2. परिवार और काम के बीच हमेशा सामंजस्य बना कर चलने वाले मुकेश बचपन से ही पढ़ाई-लिखाई में बहुत तेज़ थे. हमेशा से उन्होंने पढ़ने के लिए समय निकाला. वो कहते हैं कि उनका मकसद कभी ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाना नहीं बल्कि चैलेंज लेना रहा है. मुकेश को पढ़ने का इतना शौक है कि वो कभी-कभार रात के 2 बजे तक भी पढ़ते रहते हैं. विज्ञान और टेक्नॉल्जी में काफी दिलचस्पी रखते हैं. विज्ञान की काफी किताबें ऑनलाइन खरीदते हैं. चैरिटी में भी काफी पैसे देते हैं मुकेश. 2016 के आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने 303 करोड़ रुपयों का दान किया है.

3. मुकेश अपने पिता धीरूभाई अंबानी को अपना आदर्श मानते हैं. जैसे धीरूभाई अपनी बिज़ी लाइफ से हमेशा अपने परिवार के लिए समय निकाल लिया करते थे वैसे ही वो भी हमेशा अपने परिवार को समय देने की कोशिश करते हैं. मुकेश अंबानी का जन्म अदन, यमन में हुआ था. तब उनके पिता यमन की एक फर्म में काम किया करते थे. 1958 में वो मुंबई आ गए थे.

4. बचपन में धीरूभाई अंबानी ने कई लोगों का इंटरव्यू लेने के बाद अपने बच्चों के लिए एक टीचर रखा था. जिसका काम स्कूली पढ़ाई कराने का नहीं बल्कि जनरल नॉलेज बढ़ाने का था. वो 2 घंटे आकर उन्हें मूवीज, मैगजीन, न्यूज पेपर से ज्ञान देने के अलावा हॉकी, फुटबॉल जैसे खेल भी खिलाते थे. मुकेश बताते हैं कि वो हर साल 10-15 दिन किसी गांव में कैम्पिंग करने जाया करते थे.

5. मुकेश बताते हैं कि उनकी केमिकल इंजीनियरिंग करने की इच्छा ‘दि ग्रेजुएट’ फिल्म से जगी थी. जो उस समय की बड़ी पॉपुलर फिल्म थी. इस फिल्म में भी पॉलीमर्स और प्लास्टिक पर बात हुई थी. रिलायंस में उन्होंने कॉलेज टाइम से ही काम करना शुरू कर दिया था. ढाई बजे कॉलेज खत्म होते ही वो ऑफिस पहुंच जाया करते थे. IIT बॉम्बे में इनका हो गया था. पर छोड़कर टॉप केमिकल इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट UDCT जॉइन कर लिए. केमिकल इंजीनियरिंग खत्म करने के बाद उन्होंने कई सारे एग्ज़ाम दिये. जिनमें से कई बस इसलिए कि वो देख सकें कि उनमें कितनी क्षमता है. अपने दोस्तों के साथ उन्होंने फिर हार्वर्ड, स्टैनफोर्ड जैसे कई बिजनस स्कूलों में अप्लाई किया. जिसमें से 2-3 में उनका नाम आया. लेकिन उन्होंने स्टैनफोर्ड ज्वाइन किया.

6. मुकेश बताते हैं कि स्टैनफोर्ड की फैकल्टी बेहतरीन थी. नोबेल पुरस्कार विजेता बिल शार्प उनके फाइनैन्शियल इकॉनमिक्स के प्रोफेसर थे. उन्होंने बहुत बढ़िया पढ़ाया. वहीं प्रोफेसर एम.एम शर्मा से भी वो बड़े प्रभावित थे.

7. 11 साल से उनके दोस्त आनंद जैन रिलायंस का SEZ संभालते हैं. वहीं मनोज से वे केमिकल इंजीनियरिंग के समय मिले थे और उनकी दोस्ती आज तक कायम है.

8. गुजराती मुकेश अंबानी को खाने में साउथ इंडियन फूड बहुत पसंद है. मुंबई के माटुंगा स्थित मैसूर कैफे का इडली-सांभर उनका फेवरिट है. आज भी वो वहां जाकर खाना पसंद करते हैं.

9. उनके 25 साल के बेटे आकाश जियो में चीफ ऑफ स्ट्रेटजी हैं. बेटी ईशा येल यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट हैं साथ ही रिलायंस जियो और रिलायंस रीटेल के बोर्ड में हैं. 22 साल के अनंत ब्राउन यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे हैं. मुकेश की शादी नीता अंबानी से 1985 में हुई थी. वे रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन हैं. साथ ही ऐसी पहली भारतीय महिला जो अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ की मेंबर हैं.

10. जियो हमारे देश में नई डिजिटल क्रांति लेकर आया है. मुकेश ने महज 6 महीनों में टेलीकॉम बिज़नेस के 12 फीसदी हिस्से पर कब्ज़ा कर लिया. ऐसी क्रांति की शुरुआत की जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं होगा. सोचा होगा तो उसे पूरा करने की ताकत मुकेश अंबानी में ही थी. मुकेश अंबानी के पास दुनिया की सबसे ज्यादा क्षमता वाली पेट्रोलियम रिफाइनरी है. पॉलीएस्टर फाइबर के मामले में भी मैन्युफैक्चरिंग में वे विश्व में सबसे आगे हैं.

11. मुकेश अंबानी का घर ‘एंटीलिया’ साउथ मुंबई के ‘पेडर रोड’ के पास है. ये ब्रिटेन की रानी के सरकारी महल ‘बकिंघम पैलेस’ के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर सबसे महंगा मकान है. इस गगनचुंबी इमारत में रहने के लिए 4 लाख वर्ग फीट जगह है और ये 27 मंजिल का है. 600 लोगों का स्टाफ दिन-रात यहां काम में लगा रहता है. इस मकान की 6 मंजिल तक तो खाली पार्किंग और गैरेज हैं. ‘एंटीलिया’ में 9 लिफ्ट, 1 स्पा, 1 मंदिर, एक बॉल रूम है. इसके अलावा एक प्राइवेट सिनेमा, एक योगा स्टूडियो, एक आइसक्रीम रूम, 2 या तीन से भी ज्यादा स्विमिंग पूल हैं.


ये स्टोरी ल्लनटॉप के साथ इंटर्नशिप कर रही रुचिका ने की है.


ये भी पढ़ें:

धीरूभाई के बिजनेस का तरीका जिसमें अरब के शेख को हिंदुस्तान की मिट्टी बेच दी

अमेरिका ने अफगानिस्तान पर गिराया सारे बमों का बाप, जानें 5 बातें

अगर भाजपा एमसीडी चुनाव हार जाए तो मोदी-शाह को बहुत फायदा होगा

कल क्रिकेट में ‘जाको राखे साईयां’ वाली कहावत चरितार्थ हो गई

करण जौहर ने बताया, उन्होंने सब कुछ राज ठाकरे से ही सीखा है

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s